रेलवे ग्रुप D में सामान्य ज्ञान के पूछे जाने वाले कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न




1. चितौड़ के विजय स्तंभ (टावर ऑफ विक्टरी)  राणा कुंभा ने बनवाया था .
2. बक्सर का युद्ध 1764 में लड़ा गया था .
3. टोडा (Todas) मध्यप्रदेश में पाए जाते हैं.
4. जोग जलप्रपात शरवती नदी द्वारा निर्मित है.
5. पृथ्वी के अगल-बगल स्थित ग्रह है – मंगल और शुक्र .
6. भारत में ईस्ट इंडिया कंपनी ने पहला गवर्नर जनरल रॉबर्ट क्लाइव था.
7. UNO के 6 राज्य भाषाएं है – रूसी, चीनी, अंग्रेजी, फ्रेंस, स्पेनिश और अरबी.
8. यूरोपिय देश नार्वे प्रथम NATO देश है जिसने सेना में स्त्रियों को भर्ती किया.
9. नेय्यर सिंचाई परियोजना केरल में स्थित है.
10. चीनी यात्री हेनसांग हर्षवर्धन के शासनकाल में भारत आए थे .
11. दिल्ली के लाल किले में मोती मस्जिद का निर्माण औरंगजेब ने करवाया था.
12. भ्रूण को भोजन गर्भनाल द्वारा प्राप्त होता है.
13. नदियों,तलाबों आदि पर पाए जाने वाले जलीय हरे पौधों को शैवाल कहा जाता है .
14. विष्णुपद मंदिर का निर्माण गया में फल्गु नदी के किनारे रानी अहिल्याबाई ने करवाया था.
15. भारत में पोलो खेल तुर्कों द्वारा प्रचलित किया गया.
16. सूर्य के परिक्रमण के कारण पृथ्वी पर ऋतु परिवर्तन होता है.
17. उत्तर पश्चिमी रेलवे का मुख्यालय जयपुर है.
18. पालक के पत्ते आयरन के प्रबल स्त्रोत है.
19. इंग्लैंड की मुद्रा पाउंड है .
20. भोजन की पाचन मुहँ से प्रारंभ होता है.

21. केंद्रीय गन्ना अनुसंधान केंद्र कोयम्बटूर में है.
22. मनुष्य का सामान्य रक्तचाप 120/ 80  होता है.
23. वाट को जूल प्रति सेकंड में प्रकट कर सकते हैं.
24. सुखोई एक प्रसिद्ध लड़ाकू विमान है.
25. ओजोन गैस से सड़ी मछली की गंध निकलती है.
26. तारों का रंग उन के ताप पर निर्भर करता है.
27. भारत में प्रथम पुर्तगाली गवर्नर का नाम फ्रांसीसी अलमेडा था.
28. कृत्रिम उपग्रह छोड़ने वाला प्रथम देश रूस  है.
29. पौधे नाइट्रोजन को नाइट्रेट के रूप में प्रयोग करते हैं
30. साइमन कमीशन को शवेत कमीशन कहा गया .
31. INSAT-1A वर्ष 1982 में प्रक्षेपित किया गया .
32. पृथ्वी को नीला ग्रह कहा जाता है .
33. विश्व का सबसे छोटा देश वेटिकन सिटी है .
34. भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की प्रथम महिला अध्यक्ष एनी बेंसेट है .
35.गदर आंदोलन का संस्थापक लाला हरदयाल  था .
36. महात्मा गांधी नरेगा किसान आंदोलन चम्पारण में चलाया था.
37. मोहनजोदड़ो का अर्थ ‘मृतकों का टीला ‘ है .
38. शुंगराज वंश की स्थापना पुष्यमित्र ने की थी.
39. कबीर रामानंद के शिष्य थे.
40. शिवाजी के प्रशासन में निम्नत्तम प्रादेशिक इकाई ‘ग्राम’ का अध्यक्ष ‘पटेल’ होता था.

41. ‘हरिजन सेवक संघ’ के संस्थापक महात्मा गांधी थे.
42. वर्ल्ड वाइड वेब (WWW) का आविष्कारक टिम बर्नर्स-ली ने किया.
43. एक्स किरणों (X-Ray) की खोज डब्ल्यू रान्टजन ने की थी .
44. प्रोटोन का द्रव्यमान 1.672 X 10 -27 किलोग्राम होता है .
45. ठोस का सीधे वाष्प में परिवर्तित होने को उर्ध्वपातन (Sublimation) कहते है .
46. प्रोटीन कार्बनिक योगिक का उदाहरण है.
47. सबसे बड़ा और भारी स्तनधारी ब्लू व्हेल है.
48. वस्त्र के लिए कपास की खेती सबसे पहले भारत में की गई.
49. ‘पतंजलि’ योगसूत्र के संकल्प के लिए परिचित है.
50. ‘गायत्री मंत्र’ की रचना विशवमित्र ने की थी.

51. प्राचीन भारत में मगध राज्य की पूर्ववर्ती राजधानी राजगीर थी.
52. भगवान बुद्ध ने अंतिम शवास (महापरिनिर्माण ) कुशीनगर में ली.
53. अष्टमार्ग का आचरण जैन धर्म को बौद्ध धर्म से अलग करता है.
54. शक सवंत की शुरुआत कनिष्क ने की.
55. चरक कनिष्क दरबार के विख्यात चिकित्सक थे.
56. शतरंज खेल की शुरुआत भारत में हुई थी.
57.शून्य की धारणा समेत दशमलव संख्यिकी की प्रणाली गुप्त राजवंश के दौरान भारत में चालू की गई.
58. कुमारसंभवम महाकाव्य की रचना कालिदास ने की थी .
59. ‘भारत को तोता’ अमीर खुसरो का जन्म पटियाला में हुआ था.
60. भारत में व्यापार के लिए सबसे पहले आने वाले यूरोपीय पुर्तगाली थे.

61. यूरेनियम का आशा की धातु तथा प्लूटोनियम को भय की धातु कहा जाता है.
62. जीवन रक्षक धातु रेडियम को तथा पारा को तीव्र चांदी का जाता है.
63. विश्व की सबसे बड़ी बैराज पश्चिम बंगाल में गंगा नदी पर बनी फरक्का बैराज है.
64. डिफेंस सर्विस कॉलेज वेलिंगटन में स्थित है.
65. पर्यटन दिवस 27 सितंबर को मनाया जाता है.
66. यूनिसेफ दिवस 11 दिसंबर को मनाया जाता है.
67.‘ सरदार वल्लभ भाई पटेल’ को भारतीय प्रशासनिक सेवा का जनक कहा जाता है.
68. नेताजी सुभाष चंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 को कटक (उड़ीसा ) में हुआ था .
69. संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव हैमरशोल्ड (1953 – 1961 ) की मृत्यु 1961 में विमान दुर्घटना में हुई थी.
70. उड़ीसा राज्य बिहार से 1936 में अलग हुआ था.

रेलवे ग्रुप D में पूछे जाने वाले सामान्य विज्ञान के अत्यन महत्वपूर्ण प्रश्न

रेलवे ग्रुप D में पूछे जाने वाले सामान्य विज्ञान के   अत्यन महत्वपूर्ण प्रश्न



  • फोटोग्राफी में उपयोगी तत्व है ?                             सिल्वर ब्रोमाइड 
  • ओजोन की परत मुख्यता किस रसायन से नस्ट  हो रही है ?                C.F.C.
  • रास्ट्रीय रासायनिक प्रयोगशाला कहा स्थित है  ?          पुणे में 
  • जब  पानी  उबलता है  तो इसका ताप रहता है  ?       एक सामान रहता है 
  • हाईड्रोफोबिया रोग किससे  होता है  ?               कुत्ते के काटने पर 
  • जो तत्व आँक्सीजन पर प्रतिक्रिया नहीं करता है , वह है ?   हीलियम 
  • शारीर में कार्बोहाइड्रेट का संग्रह किसके रूप में होता है ? ग्लाईकोजन 
  • शुष्क बर्फ किसे कहते है  ?                        ठोस कार्बनडाइऑक्साइड को 
  • एयर ब्रेक का अविष्कार किसने किया था ?        जी.बोस्टिंग हाउस  ने 
  • जल का घनत्व अधिकतम होता है  ?                     4℃   पर 
  • रेफ्रिजरेटर ( फ्रिज ) में थर्मोस्टेट का कार्य है ?   एक समान तापमान बनाये रखना 
  • मानव शारीर की सबसे बडी हड्डी का क्या नाम है ?        फीमर 
  • भारत का प्रथम परमाणु विधुत घर कहा प्रराम्भा हुआ ?     तारापुर 
  • पत्तियो में पाया जाने वाला तत्वा   ?           मैग्नीशियम 
  • साल्ट पीटर क्या कहलाता है  ?           पोटेशियम नाइट्रेट 
  • पायरोमीटर नापता है   ?                   सेलुलोज 
  • इंसुलीन की कमी से कौन सा रोग होता है   ?       मधुमेह 
  • मेटीओरोलाँजी विज्ञान क्या है     ?                    मौसम का 
  • हरे फलो को कृतिम ढंग से पकाने में प्रयोग की जाने वाली गैस होती है ?           एसीटीलीन गैस 
  • फैदोमीटर का उपयोग किस राशि को मापने में किया जाता है  ? 
  •    समुद्र की गहराई 
  • गैस इंजन की खोज किसने की ?              पिट्यूटरी 
  • किसकी चिकत्सा में डायलीसिस का प्रयोग किया जाता है  ?     गुर्दे की 


जानें कैसे तय होती हैं पेट्रोल-डीजल की कीमतें, ये है पूरा हिसाब-किताब

जानें कैसे तय होती हैं पेट्रोल-डीजल की कीमतें, ये है पूरा हिसाब-किताब


क्या आप जानते हैं कैसे होता है तेल और पेट्रोल प्राइज का कैल्‍कुलेशन. आप तेल की कितनी कीमत चुका रहे हैं, और उसका कितना प्रतिशत पैसा टैक्स के रूप में सरकार के पास जा रहा है.


देश में बीते चार सप्ताह से पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में बढ़ोतरी के चलन से उलट पेट्रोल की कीमत में प्रति लीटर 2.16 रुपए और डीजल की कीमत में 2.10 रुपए की कमी की गई है.क्या आप जानते हैं आप तेल के लिए जितनी कीमत चुका रहे हैं, उसका आधे से ज्यादा पैसा टैक्स के रूप में सरकार के पास जा रहा है. असल में पेट्रोल की कीमत काफी कम है, आइए हम आपको पेट्रोल के दामों का पूरा गणित बता रहे हैं कि आखिर पेट्रोल के दाम कैसे तय हो रहे हैं.



अंतरराष्ट्रीय बाजार में अब कच्चे तेल के एक बैरल की कीमत 30 डॉलर से भी कम हो गई है, कच्चे तेल की कीमत पिछले ग्यारह साल में इतनी कम पहले कभी नहीं थी, लेकिन तेल के लुढ़कते दामों का जो फायदा उपभोक्ता को मिलना चाहिए था, वह फायदा सरकार खुद उठा रही है.



दरअसल कच्चे तेल पर बेसिक कस्टम ड्यूटी, बेसिक सेनवेट ड्यूटी और केंद्रीय एक्साइज कर लगाया जाता है. वहीं पेट्रोल और डीजल पर बेसिक कस्ट्म ड्यूटी, एडिशनल कस्टम ड्यूटी, स्पेशल एडिशनल ड्यूटी और एडिशनल कस्टम ड्यूटी बेसिक सेनवेट ड्यूटी, सेल्स टैक्स या वैट, पॉल्यूशन सेस, सरचार्ज आदि लगाया जाता है



तेलों में गिरावट का 2004 के बाद का ये सबसे निचला स्तर है. भारतीय बास्केट में इसकी कीमत को आंका जाए एक बैरल तेल की कीमत 2001.28 रुपये होती है.



आपको बता दें कि सबसे पहले रिफाइनरी में कच्चे तेल से पेट्रोल, डीजल और अन्य पेट्रोलियम पदार्थ निकाले जाते हैं. फिर कंपनियां अपना मुनाफा बनाकर पेट्रोल पंप तक तेल भेजती है. फिर पेट्रोल पंप मालिक तयशुदा कमीशन वूसलता है और आम आदमी सरकार के टैक्स देकर ये तेल खरीदता है



वहीं अगर देश के अलग-अलग राज्यों में तेल पर लगने वाले वैट की बात करें तो आंध्रप्रदेश में सबसे ज्यादा वैट वसूला जाता है जबकि लक्षद्वीप, अंडमान में सबसे कम यानी 0 प्रतिशत वसूला जाता है. आंध्र प्रदेश में पेट्रोल पर 39.66 फीसदी, डीजल पर 32.72 फीसदी वैट वसूला जाता है.

पेट्रोल, डीजल के दाम बढ़ने के कारण

 देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतें 3 साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है, जिससे उपभोक्ता चिंतित हैं।


  • उनका मानना है जब इन उत्पादों पर लगने वाले करों में बार-बार फेरबदल किया जा रहा हो तो बाजार आधारित कीमतों की अवधारणा का कोई मतलब नहीं है। जब कच्चे तेल के दाम लगातार गिर रहे हैं तो देश में पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ रही है, जबकि 2014 के मई में कच्चे तेल की कीमत 107 डॉलर प्रति बैरल थी, उस वक्त अभी से सस्ता पेट्रोल मिल रहा था।


 यह सच है कि पिछले तीन महीनों में कच्चे तेल की कीमतें 45.60 रुपये प्रति बैरल से लेकर अभी तक 18 फीसदी बढ़ी है,
 जिसका नतीजा है कि दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 65.40 रुपये से बढ़कर 70.39 रुपये तक पहुंच गई है।

यह बढ़ोतरी कच्चे तेल के दाम में बढ़ोतरी की तुलना में कम है। लेकिन साल 2014 के मई में कच्चे तेल की कीमत 107 रुपये प्रति बैरल पहुंच जाने के बाद भी दिल्ली में 1 जून 2014 को पेट्रोल की कीमत 71.51 रुपये प्रति लीटर थी और ग्राहक यह तुलना कर रहे हैं।


एसोचैम के नोट में कहा गया, "जब कच्चे तेल की कीमत 107 डॉलर प्रति बैरल थी, तो देश में यह 71.51 रुपये लीटर बिक रही थी। अब जब यह घटकर 53.88 डॉलर प्रति बैरल आ गई है तो उपभोक्ता तो यह पूछेंगे ही कि अगर बाजार से कीमतें निर्धारित होती है तो इसे 40 रुपये लीटर बिकना चाहिए।"


           इसमें कहा गया है कि हालांकि कीमतों को बाजार पर छोड़ा गया है, लेकिन केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा लिए जानेवाले उत्पाद कर और बिक्री कर या वैट में तेज बढ़ोतरी के कारण सुधार का कोई मतलब नहीं रह गया है।

एसोचैम के महासचिव डी. एस. रावत ने कहा, "उपभोक्ताओं की कोई गलती नहीं है। क्योंकि सुधार एकतरफा नहीं हो सकता। अगर कच्चे तेल के दाम गिरते हैं तो उसका लाभ उपभोक्ताओं को दिया जाना चाहिए।"


चेंबर ने कहा कि हालांकि यह सच है कि सरकार को अवरंचना और कल्याण योजनाओं के लिए संसाधनों की जरुरत होती है, लेकिन केंद्र और राज्यों की पेट्रोल और डीजल पर जरुरत से ज्यादा निर्भरता आर्थिक विकास को प्रभावित करती है।

चेंबर ने कहा, "इसका असर आर्थिक आंकड़ों पर दिख रहा है। साल-दर-साल आधार पर अगस्त में मुद्रास्फीति की दर क्रमश: 24 फीसदी और 20 फीसदी थी। इससे ऐसे समय में जब उद्योग को निवेश के लिए कम महंगे वित्तपोषण की जरुरत है, भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा ब्याज दरों को घटाने की संभावनाओं पर असर पड़ता है।

जानिए क्या है SC-ST एक्ट, किस बदलाव को लेकर मचा है संग्राम.................................

जानिए क्या है SC-ST एक्ट, किस बदलाव को लेकर मचा है संग्राम




एससी-एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद देशभर में काफी विरोध-प्रदर्शन हुए. दलित समुदाय भारत बंद और कई संगठनों के लगातार विरोध को देखते हुए अब सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को बदलने का फैसला किया है. एससी-एसटी एक्ट में संशोधन के लिए इस मॉनसून सेशन में बिल लाया जा रहा है.
संशोधन बिल पास हो जाने के बाद एक्ट में वही स्थिति फिर से बहाल हो जाएगी जो सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले थी. आखिर क्या है एससी-एसटी एक्ट?, क्यों बनाया गया था इसे और सुप्रीम कोर्ट के फैसले का क्यों हो रहा है इतना विरोध? सभी बातें समझिए यहां

क्या है SC-ST Act?

अनुसूचित जातियों और जनजातियों के लोगों पर होने वाले अत्याचार और उनके साथ होनेवाले भेदभाव को रोकने, (अत्याचार रोकथाम) अधिनियम, 1989 बनाया गया था. जम्मू कश्मीर को छोड़कर पूरे देश में इस एक्ट को लागू किया गया. इसके तहत इन लोगों को समाज में एक समान दर्जा दिलाने के लिए कई प्रावधान किए गए और इनकी हरसंभव मदद के लिए जरूरी उपाय किए गए. इन पर होनेवाले अपराधों की सुनवाई के लिए विशेष व्यवस्था की गई ताकि ये अपनी बात खुलकर रख सके. हाल ही में एससी-एसटी एक्ट को लेकर उबाल उस वक्त सामने आया, जब सुप्रीम कोर्ट ने इस कानून के प्रावधान में बदलाव कर इसमें कथित तौर पर थोड़ा कमजोर बनाना चाहा. 

सुप्रीम कोर्ट ने SC/ST एक्ट में किया था यह बदलाव

सुप्रीम कोर्ट ने एससी/एसटी एक्ट के बदलाव करते हुए कहा था कि मामलों में तुरंत गिरफ्तारी नहीं की जाएगी. कोर्ट ने कहा था कि शिकायत मिलने पर तुरंत मुकदमा भी दर्ज नहीं किया जाएगा. शीर्ष न्यायालय ने कहा था कि शिकायत मिलने के बाद डीएसपी स्तर के पुलिस अफसर द्वारा शुरुआती जांच की जाएगी और जांच किसी भी सूरत में 7 दिन से ज्यादा समय तक नहीं होगी. सुप्रीम कोर्ट ने इस एक्ट के बड़े पैमाने पर गलत इस्तेमाल की बात को मानते हुए कहा था कि इस मामले में सरकारी कर्मचारी अग्रिम जमानत के लिए आवेदन कर सकते हैं.

संशोधन के बाद अब ऐसा होगा SC/ST एक्ट

एससी\एसटी संशोधन विधेयक 2018 के जरिए मूल कानून में धारा 18A जोड़ी जाएगी. इसके जरिए पुराने कानून को बहाल कर दिया जाएगा. इस तरीके से सुप्रीम कोर्ट द्वारा किए गए प्रावधान रद्द हो जाएंगे. मामले में केस दर्ज होते ही गिरफ्तारी का प्रावधान है. इसके अलावा आरोपी को अग्रिम जमानत भी नहीं मिल सकेगी. आरोपी को हाईकोर्ट से ही नियमित जमानत मिल सकेगी. मामले में जांच रैंक के पुलिस अफसर करेंगे. जातिसूचक शब्दों के इस्तेमाल संबंधी शिकायत पर तुरंत मामला दर्ज होगा. एससी/एसटी मामलों की सुनवाई सिर्फ स्पेशल कोर्ट में होगी. सरकारी कर्मचारी के खिलाफ अदालत में चार्जशीट दायर करने से पहले जांच एजेंसी को अथॉरिटी से इजाजत नहीं लेनी होगी.